नई दिल्ली 18, Jan 2020

लेख

1 - साधना एवं व्यायाम पर आधारित फालुन दाफा

2 - साधना एवं व्यायाम पर आधारित फालुन दाफा

3 - नागरिक्ता संशोधन कानून पर हो रही है वोट बेंक की राजनीति

4 - एनआरसी के नाम पर तुष्टिकरण की राजनीति

5 - झारखंड में समय की कसौटी पर है चाणक्य का चक्रव्युह

6 - चोसर की बिसात पर है महाराष्ट्र की सियासत

7 - राम लला को मिला उनका मालिकाना हक

8 - माकूल इंतेजामात के साथ मनाया जा रहा है छट महोत्सव

9 - दीपावली की हार्दिक शुभेच्छा

10 - एक बार फिर कमल खिला हरियाणा और महाराष्ट्र में

11 - इंसाफ की तलाश में भटक रहे हैं पीएमसी बैंक के खाताधारी

12 - विदेश नीति बनाम अर्थ नीति

13 - विजय दशमी के दिन होती है रावण की पूजा

14 - महाराष्ट्र और हरियाणा में सक्रिय राजनीतिक सरगर्मियाँ

15 - कुछ इस अंदाज में दिखे ट्रंप और मोदी

16 - गणपति बप्पा मोरया पुध्चे बरस तू लोकरया

17 - 9 राज्यों में गहराया प्राकृति का प्रकोप

18 - गो गो गो गोविंदा

19 - जम्मू-कश्मीर की पंचायतों में भी लहराया तिरंगा

20 - जम्मू-कश्मीर में बदलते परिवेश

21 - राम मंदिर एक परिकल्पना

22 - तीन बार रहीं दिल्ली की मुख्य-मंत्री हुई अलविदा

23 - राहुल गाँधी के इस्तीफे ने लिया नाटकीय मोड़

24 - रहना है स्लिम-ट्रिम तो नियमित रूप करो से योगा

25 - दीदी पर है हावी जय श्री राम फोबिया

26 - फिर इस बार मोदी सरकार

27 - स्याही और थप्पड़ बने चुनावी ढ़ाल

28 - कहीं इस बार फिर

29 - क्या फिर से खेलेंगे नरेंद्र मोदी एक नई पारी

30 - राजनीति का सितारा हुआ पंचतत्वों में विलीन

31 - सौगंध मुझे इस मिट्टी की मैं देश नहीं झुकने दूँगा

32 - आतंकवादी वारदातों में क्यों होती है सांप्रदाय विशेष की भागीदारी

33 - मुख्यमंत्री ने की पुलिस आयुक्त की मुखालफत

34 - विपक्ष का नजरिया अंतरिम बजट एक चुनावी जुमला

35 - 70 वें गणतंत्र दिवस का आकर्षण आजाद हिंद फौज

36 - 2019 में सत्ता का महाभोज

37 - फिल्मी दुनिया के बेताज बादशाह को देश का आखरी सलाम

38 - जददो-जहद के बाद राजस्थान की बागडोर गेहलोत के हाथ

39 - आंकड़ों के खेल ने सियासत की बाजी पलटी

40 - बहुत कठिन है डगर राजस्थान की

41 - आंतरिक आतंकवादी गतिविधियाँ बनी चुनौती

42 - दशहरे के दिन आज भी होती है रावण की पूजा

43 - विवेक तिवारी हत्याकांड हकीकत या हादसा

44 - गणपतिमय हो गई माया नगरी

45 - धर्म की आड़ में पनपती विकृत मानसिक्ता

46 - गो...गो...गोविंदा

47 - केरल पर मंडराया प्रकृति का प्रकोप

48 - "आयुष्मान " देेश की सबसे बड़ी स्वास्थ्य योजना

49 - 2019 लोक सभा चुनाव एक परिकल्पना

50 - संदेह के घेरे में सी.वी.रमन विश्वविद्यालय

51 - अरबाज पर लगा सटटेबाजी का आरोप

52 - एक रहस्यमय मौत

53 - कर्नाटक में खिला कमल

54 - यौन उत्पीड़न बनाम प्रभावशाली वयक्तित्व

55 - हुई सक्रिय दलित राजनीति

56 - लिंगायत की बिसात पर टिकी राजनीति की गोट

57 - होनर किलिंग बनाम लव जिहाद

58 - बैंक घोटालों की फेहरिस्ट हुई लंबी

59 - शिक्षा स्थलों में पनपती अपराधिक मानसिकता

60 - केंद्रिय बजट 2018-19 एक समिक्षा

61 - 69 वें गंतंत्र दिवस परेड का आकर्षण नारी शक्ति

62 - समझौंतों की बिसात पे पूर्वोत्तर की राजनीत

63 - 2017 में पुलिस की उपलब्धि काम्युनिटी पुलिसिंग

64 - सरहद पार की गतिविधियाँ बनी एक चुनौती

65 - सुबह के साथ फिर खिला कमल

66 - जनेउ और चाय एक चुनावी जुमला

67 - जहरीले धुंवे के बीच घुटन में जीती जिंदगी

आतंकवादी वारदातों में क्यों होती है सांप्रदाय विशेष की भागीदारी

वो असले से भरी गाड़ी सीआरपीएफ के जवानों से भरी बस से भिड़ा देते हैं और विस्फोट में हमारे 40 जवान मारे जाते हैं । बुद्धिजीवी,सियासतदान और देश के राजनीतिज्ञ इसे शाहदत का जामा पहना देते हैं और देश में शुरू होता है श्रद्धांजली सभाओं वा केंडल मार्च का दौर । 
 
 
कुछ दिन मामला टीवी चेनल्स और मीडिया में परिचर्चाओं और कवि सम्मेलन के रूप में गर्म रहता है और उसके सब-कुछ सामान्य । रह जाती हैं तो बस इंसाफ की तलाश में भटकती मारे गये जवानों के परिवार की अश्रु पूरित आँखें । मदद के साथ कहीं ज्यादा जरूरी है मृतको को इंसाफ ।
 
 
क्या कसूर है उस छह माह के बच्चे का या फिर दरवाजे पर पिता के लौटने का इंतजार करती 10-12 साल की बच्ची का या फिर राजस्थान की मरूभूमी में अपने पति का इंतजार करती दो आँखें घर कब आओगे ।
 
 
सरहद पार से की गई साजिश को हमारे देश में अंजाम दिया जाता है और अंजाम देने वाले कोई गैर नहीं हमारे बीच हमारे ही देश के बंदे होते हैं । वो वारदात को अंजाम देते हैं और हम हाथ मलते हैं । वो हमारी गेरत को ललकारते हैं और हम दुहाई देते हैं ।
 
 
जम्मू-कश्मीर के सीमावर्ती इलाकों में आतंकवादी हमले  आम हैं । घर और धार्मिक स्थल आतंवादियों के पनाहगार होने से लोकल बाशिंदों की भागीदारी से इंकार भी नहीं किया जा सकता ।
 
 
आतंकवाद देश का आंतरिक मामला है और बिना अपने ही लोगों की भागीदारी के आतंकवादी वारदातों को अंजाम नहीं दिया जा सकता । जाहिर है इनसे निपटने की जिम्मेदारी  भी मौजूदा सियासतदानों की है । 
 
 
क्या फरक पड़ता है कि आतंकी वारदातों के लिये जेश-ए-मुहम्मद जिम्मेदार है या लश्करे तोयबा या फिर अलकायदा ।  जरूरी है तो बस अपने ही घर में इंसान की खाल में छिपे भेड़ियों से निपटना ।
 
 
विचारणीय है तो बस आतंकी हमलों में एक सांप्रदाय विशेष से जुड़े आदमी की भागीदार अब वो अब वो अमेरिका के वल्ड ट्रेड सेटर हुआ आतंकी हमला हो या फिर संसद पर अटेक और या फिर जम्मू कश्मीर के पुलवामा में । क्या मिल पायेगा के.पी.एस. गिल जैसा सुपर कोप हीरो.......  
 

01:14 pm 17/02/2019

संपादक

डा. अशोक बड़थ्वाल

Mobile : 91-9811440461

editor@dhanustankar.com

Slideshow

समाचार

1 - खेल टुडे के संपादक राकेश थपलियाल दिल्ली जर्नलिस्ट एशोसियेशन नये अघ्यक्ष

2 - 1984 के दंगों की जाँच में बरती गई ढ़ील

3 - पानी बचाने वालों को 30 पैसे प्रति लीटर कैश बैक

4 - सुझाव बनेंगे भाजपा के चुनावी घोषणा पत्र का हिस्सा

5 - कव्वा और चिड़िया नाम से होती थी पिस्तोलों की तस्करी

6 - महंगे बीते पाँच साल अब बस करो केजरीवाल

7 - "छपाक" के विरोध के पीछे महिला विरोधी मानसिक्ता

8 - "अच्छे बीते पाँच साल लगे रहो केजरीवाल"

9 - गुमराह कर हो रही है वोट बैंक की राजनीति

10 - दिल्ली अंडमान निकोबार केडर के आईपीएस अधिकारियों की पासिंग आउट परेड

11 - अबतक लगभग 32 पत्रकारों के नामंकन पत्र दाखिल

12 - घर-घर संपर्क एवं मौहल्ला सभायें होंगी बीजेपी की चुनावी रणनीति

13 - नागरिक्ता संशोधन कानून के लिये भाजपा का घर-घर जन चेतना अभियान

14 - विधान सभा के लिये दिल्ली प्रदेश कांग्रेस का कंट्रोल रूम

15 - तेल खनन का विस्तारित ठेका ओएनजीसी को

16 - पुलिसकर्मियों को उपभोक्ता सामाग्री किफायती दामों पर

17 - आम आदमी पार्टी और बीजेपी की नीतियों के खिलाफ दिल्ली प्रदेश कांग्रेस का उपवास

18 - समाजवादी नेता राज नारायन की पुन्य तिथि को मनाया सामाजिक समरस्ता दिवस के रूप में

19 - चोरी के मोबाइल इस्तेमाल करने वालों पर कसी जा सकेगी नकेल

20 - राहुल का एनपीआर विवादस्पद बयान वोट बेंक की राजनीति

21 - केजरी सरकार के पाँच साल के कार्यकाल की समीक्षा

22 - 2019 में 110 आत्म-रक्षा प्रशिक्षण शिवरों का आयोजन

23 - बिजली सब्सिडी के नाम पर करोड़ों रूप्या इधर का उधर

24 - वरिष्ठ पत्रकार सुधीर चैधरी को अटल रत्न संमान

25 - वर्तमान परिप्रेक्ष्य में वीर सावरकर के विचारों प्रासंगिक्ता

26 - शहीद भगतसिंह,गांधी एवं अंबेडकर के पोस्टर हाथ में लेकर हुआ छात्र प्रदर्शन

27 - नागक्तिा संशोधन कानून के विरोध में राजघाट पर कांग्रेस का सत्याग्रह

28 - उपराज्यपाल ने की साइबर प्रिवेंशन अवेयरनेस सेंटर के कार्यो की समीक्षा

29 - नागरिक्ता संशोधन कानून पर बीजेपी का राष्ट्रव्यापी जनचेतना अभियान

30 - बलात्कार के अरोपी सेंगर को मिला आजीवन कारावास

31 - आये दिन हो रहे पत्रकारों पर हमले की समीक्षा

32 - दंगाग्रस्त क्षेत्रों में थाना स्तर पर अमन कमेटी मिटिंग

33 - ओखला एवं सीलमपुर में हुए बलवे की होनी चाहिये न्यायिक जाँच

34 - नागरिक्ता संशोधन बिल पर सक्रिय राजनीतिक सरगमियाँ

35 - बच्चों की सोंच में स्वच्छता एवं सड़क सुरक्षा एकीकृत

36 - 63 % यौन उत्पीड़न के मामले बच्चों से संबंधित

37 - एनआरसी के विरोध में बांगला समाज का प्रदर्शन

38 - फेक्ट्री के बाहर ताला लगा था

39 - मदनगीर से ठक-ठक गेंग के दो सदस्य गिरफतार

40 - स्वच्छ यमुना निर्मल यमुना

41 - हेदराबाद रेपकांड में दोषियों को सजा की माँग

42 - सेवा स्थल पर मुहैया होगी खान-पान सामग्री

43 - अनियमित कलोनियों से नियमन के लिये 10 लाख मालिकाना दावेदारी संभावित

44 - डा मंगलम स्वामिनाथन पत्रकारिता एक्सिलेंस एवार्ड सुश्री रंजना नारायन को

45 - औषधी वितरण अधिकृत फार्मासिस्ट के द्वारा ही

46 - 71 अनाधिकृत कलोनी प्रतिबंधित श्रेणी में

47 - मयूर पब्लिक स्कूल में आत्म-रक्षा शिविर

48 - इलेक्टोरल बांड से चंदे की आड़ में ब्लेक मनी पर नियंत्रण

49 - एसपीजी सुरक्षा की माँग को लेकर दिल्ली प्रदेश कांग्रेस द्वारा धरना प्रदर्शन

50 - दिल्ली के सुनसान इलाकों में केब में सवार सहयात्रियों से होती थी लुट-पाट

51 - पूठ खुर्द की एक फेक्ट्री में बनता था नकली जीरा

52 - इन हाउस सर्वे लिमिट 50000 से 70000 रूप्ये किये जाने के विरोध में प्रदर्शन

53 - विपक्ष ने उठाये इलेक्टोरल बांडस पर सवाल

54 - कांग्रेस की बयानबाजियों के खिलाफ बीजेपी छेड़ेगी राष्ट्रव्यापी जन आंदोलन